झांसी की रानी

By: Prachi

ब्रिटिश राज से जमकर लड़ी,

कहानी सुनी हमने उसकी घड़ी घड़ी।

नारी का सम्मान बढ़ाया,

गोरों को भारत से भगाया।

बेटी काशी की, रानी झांसी की,

बनी है आदर्श आज हर नारी की।

खोने के बाद अपना सुहाग,

सिंहासन पर किया था राज।

अंग्रेजो से झांसी बचाई थी,

लड़ते लड़ते जान गवाई थी।