वक्त

By: Utkarshaa koshta

🌼🌸🌼

बस इतंज़ार है उस वक्त का जब तुम से सारी मन की बातें बोल दू, 

तुम्हे थामकर उस वक्त में खो जाऊँ, 

साथ उस वक्त में हवाओं के संग आसमान में इंद्रधनुष के रंग बिखेर दू ,

बस इतंज़ार है उस वक्त का जिस वक्त के कुछ पल चुराकर, 

तुम मेरे वक्त में चले आओ 

🌼🌸🌼