कुर्सी😁

By: Sangita

मुझ पर बैठकर सब  खाते,
             मुझ पर बैठकर सब आराम फरमाते।


पैर भी है मेरे  चार,
       कोशिश करता मैं बार-बार,
 फिर आगे नहीं बढ़ पाता हूं मैं।।