समय समय की बात

By: Parisa Gupta

समय समय की बात है, कभी भरोसा तो कभी विश्वासघात है,

बुरे समय में भगवान याद है, तो अच्छे में मदद करने को हाथ है।

बड़ी अजीब सी है यह दुनिया, यहां आज भी जात पात है,

पैसे वाला खास और गरीब आज भी मोहताज है,

सब समय समय की ही बात है।।