फूल पाएँगे कैसे

By: Bansi Dhameja

दूसरों के रास्तों में काँटे बोएंगे तो

अपन रास्ते में फूल  पाएँगे  कैसे

 

खुले दिल  से अगर ना सोचेंगे तो

सोच  अपनी  बदल  पाएँगे  कैसे

 

सही रास्ते पर कदम ना ढ़ाएंगे तो

दूसरों को सही रास्ता दिखाएँगे कैसे

 

अगर  मोहबत  हम  देंगे  नहीं तो

मोहब्बत  किसी  से हम पाएँगे कैसे

 

दोस्ती अगर हम निभाएँगे नहीं तो

दोस्त किसी के हम कहलाएँगे कैसे

 

संस्कारी अगर हम खुद होंगे नहीं तो

बच्चों  को संस्कारी बना पाएँगे कैसे

 

अपनी उलझनो में उलझते रहेंगे तो

दूसरों  की  उलझने  सुलझाएँगे कैसे

 

दूसरों के रास्तों में काँटे बोएंगे  तो

अपने  रास्ते में फूल  पाएँगे  कैसे