क्या से क्या हो गए।

By: Sangita Gupta

जब से अलग अलग घर हो गए,

साथ रहने वाले अजनबी हो गए,

इमारत ऊंची और दिल छोटे हो गए,

एक थाली में खाने वाले मेहमान हो गए,

गांव में बीता जिनका बचपन,

वह शहर वासी हो गए,

एक ही माता-पिता के बच्चे,

अलग अलग हो गए।।