मनवा मेरे

By: Pinki Devnath

मनवा मेरे

मनवा मेरे ओ मनवा मेरे

क्यों करे तू इशारे

रूकना जरा चलू तेरे संग

कुछ समय सोच विचारे

ओ मनवा मेरे ओ मनवा मेरे

चलना चाहू मैं संग तेरे

पर छू न पाऊ तुझे

मन मुताबिक इस जग में

अब तक मिला न कुछ मुझे।