सज्जन आदमी

By: Ramji Pathak

हर वक्त हमको मुस्कुराना पड़ता है
कमजोरी को छुपाना पड़ता है
चरित्र आंकती है,दुनिया बेवजह 
हमको हर वक्त gentleman कहलाना पड़ता है
परिवार,समाज की नज़रों में ,
कम उम्र में भी समझदारी दिखाना पड़ता है
चाहे कुछ गलत करें या न करें 
मर्द है,लड़का है, सुनकर ये
सारा blame उठाना पड़ता है
हम सारे दिन याद रखते हैं,और
हमें हमारा दिन याद दिलाना पड़ता है
झूठे इल्ज़ाम लगा दे गर कोई हम पर
जिंदगी भर दाग मिटाना पड़ता है
कब समझेंगे लोग भाई,मर्द भी इंसान है
क्यों हर मर्द को सबको समझाना पड़ता है
                           ~ Ramji Pathak