हौसला

By: YOGITA

 

जीवन मे मिली हार से

ना होना बंदे निराश तू

दुखों से हार मान  कर

ना बैठ, हो कर हताश तू  |

 

आज मिली जो हार

छिपी उसी मे मंजिल तेरी

ढूंढ्ना है बस रास्ता

उठजा और  शुरू कर, सफर तो तू |

 

खोज अपने अंदर की

सारी क्षमताएं तू

है बहुत कुछ छिपा

ढूंढ ना पाया, अब तक जो तू |

 

ना छोड़ अपनी उम्मीद तू

ना छोड़ अपने साहस को

आज मिली जो हार तो क्या

कल होगा, सफल जरूर तू |

कल होगा, सफल जरूर तू |