आराम करा दूँ

By: Jai Kumaar

आ ज़िन्दगी तुझे थोड़ा आराम करा दूँ, 
तू थक गई होगी उम्मीदों का बोझ उठाते उठाते!