पंखा।।।।

By: 👍🤗Aadhyam🤗👍

चलने को तो चलता हूं,

गर्मी में सब पहुंचाता हूं।

पैर भी है मेरे तीन,

मगर आगे नहीं बढ़ पाता हूं।।