khamoshi

By: Mahima Dadhich

डर लगता है मुझे खामोशीयों से ,मैं सागर हूँ साहब अक्सर खामोश होता हुं और तूफान ले आता हूँ।