Ek Lamhe Ka Khwab - ZorbaBooks
प्रेम की कहानी

Ek Lamhe Ka Khwab

by Dr Dharmendra Kumar

199.00

E-Book Price ₹49 / $2.99

ISBN 978-81-94423-49-2
Languages Hindi
Pages 174
Cover Paperback
E-Book Available

Description

Hindi Novel – एक लम्हे का ख्वाब

कई बार ज़िन्दगी बड़े नाखुश रंग दिखाती है, और कई बार पूरी ज़िन्दगी ही नाखुशी का रेगिस्तान नज़र आती है| एक ऐसा रेगिस्तान जिसके ओर-छोर का तो पहले ही पता नहीं होता; और दुःख, समाज के तंज, परिस्थितियों के शिकंजों के बवंडर अक्सर इस रेगिस्तान में हमारी ठोर बने रेत के टीले भी बहा ले जाते हैं| हम अक्सर इन क्षणिक टीलों के साथ एक अपनापन जोड़ लेते हैं, और ये भूल जाते हैं कि इनका साथ क्षण भर का है| इन बवंडरों, रेगिस्तान की तपन के बीच जलती जिंदगी को एक कारगर लक्ष्य कैसे राहत दे सकता है, कैसे उस रेगिस्तान में भी एक मरुद्यान उगा सकता है, को बयां करती है हमारी ये कहानी|

देव और यास्मीन की ये कहानी उनके बेजोड़ और आदर्श प्रेम को बयां करती है, जो जिस्मानी ताल्लुकों से ऊपर उठकर मानवीय मूल्यों से जुड़ाव रखता है| ऐसा एक आदर्श प्रेम की कहानी जिसका एक उद्देश्य है, जो सार्थक है, सार विहीन नहीं|

ये एक आदर्श प्रेम की कहानी है| एक ओर समाज के धर्म ओर जातियों को लेकर ऊलजलूल पैमानों पर खर्च होती मानवता की वेदना को प्रस्तुत करती है, तो दूसरी ओर प्यार किसी को पा लेना ही नहीं बल्कि उस प्यार को खोकर भी उस प्यार के लिए जीकर, उस प्यार के सपने में अपने प्रेम को जीवंत रखने का एक मार्मिक चित्रण भी करती है|
More hindi novel

लेखक के बारे में

डा0 धर्मेन्द्र कुमार ने अपनी मास्टरर्स और एवं पी एच0 डी0 की शिक्षा बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटि से ग्रहण की है। डा0 कुमार ने भारत सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय के बाॅय्सकास्ट फेलो के रूप में लुण्ड विश्वविद्यालय स्वीडन में माइक्रोबायोलोजी में उच्च स्तरीय शोध भी शोध किया है। लेखक वर्तमान समय में बाँदा कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय, बाँदा के पादप रोग विज्ञान विभाग में ऐसोसिएट प्रोफेसर हैं। लेखक की नौकरी की प्रकृति पादप रोग विज्ञान में शिक्षण और शोध है। लेखक ने मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय और अन्र्तराष्ट्रीय विज्ञान पत्रिकाओं में कई शोध पत्र प्रकाशित किये हैं। सामाजिक बिन्दुओं पर अलग सोच रखने के कारण आन्तरिक आवाज नेेे डा0 कुमार को एक लेखक के रूप में भी बदल दिया है। यह लेखक की पहली पुस्तक है। लेखन के अलावा डा0 कुमार का शौक दुनिया के इतिहास का अध्ययन, तुलनात्मक धर्म का अध्ययन और फोटोग्राफी है।
डा0 धर्मेन्द्र कुमार ने उच्च स्तरीय विज्ञान पत्रिकाओं में कई शोध पत्र और लेख प्रकाशित किये है। लेखक कोे स्वीडन में उच्च स्तरीय शोध के लिये विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा डी0एस0टी0 बाॅय्सकास्ट फेलो का एवार्ड मिल चुका है। डा0 कुमार कोे इन्डियन फाईटोपैथोलाजिकल सोसाइटी की तरफ से एम0के0पटेल मेमोरियल यंग साईन्टिस्ट एवार्ड से भी सम्मानित किया जा चुका है। डा0 कुमार को अपनी शोध प्रस्तुतियों के लिये कई बार पुरस्कृत किया जा चुका है।

5 reviews for Ek Lamhe Ka Khwab

  1. Saddam

    The story is very good. It has touched the every aspect of life like love, affection, humanity and it also explain grief of riots. It through light on untouchability which is still found in our so called modern society. It is very good book and is readable.

  2. Sushma Gautam

    ”Ek Lamhe Ka Khwab” is an amazing novel. It has a mind blowing story which is correlated with our society and expose the truth of of our Indian society and also see a way to help the destitute people. ”A big thank you to the writer of this book for giving us such a very nice thought”.

  3. Garima Yadav

    Heart touching love story.

  4. Yogendra Kumar

    “El Lamhe Ka Khwab” It is a really mind blowing love story.

  5. AMIT KUMAR RATNA

    Finally i read this book…Really big sacrifice or struggling and heart touching story..No word express about this story only one word really Awesome Story forever.

Add a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Sample View

Also Available on:

Flipkart Amazon Shopclues Snapdeal